Saturday, December 3, 2016

फ़िल्मी गानों की तकती - :बहर: पार्ट - 10



*****************************

फ़िल्मी गानों की तकती - :बहर: पार्ट -10

बहर
रमल मुसम्मन मखबून महजूफ

2122 1122 1122 22
1)
मुझको इस रात की तनहाई मे आवाज़ न दो
जिसकी आवाज़ रुलादे मुझे वो साज़ न दो.

2)
अपनी आँखों के समंदर मे उतर जाने दे
तेरा मुज़रिम हूँ मुझे डूब के मर जाने दे.


3)
रस्मे-उल्फ़त को निभाएँ तो निभाएँ कैसे
हर तरफ़ आग है दामन को बचाएँ कैसे

4)
अपनी आँखों के समंदर मे उतर जाने दे
तेरा मुज़रिम हूँ मुझे डूब के मर जाने दे.

5)
मुझसे मिलने को वो करता था बहाने कितने
अब ग़ज़ारेगा मेरे साथ ज़माने कितने.

6) जाने क्या ढूंढती रहती हैं ये आँखें मुझमें
राख के ढेर में शोला है न चिंगारी है
**************************************

Saturday, August 20, 2016

हजज़ मुसम्मन सालिम

बहरे हजज़ मुसम्मन सालिम
1222 1222 1222 1222
=================

आइये  "आनंद बक्शी" द्वारा स्वर-बद्ध किया फिल्म 'मुक्ति' का
इस बहर पर एक पुराना नगमा और उसकी तकती देखें ...
उम्मीद है उत्सुक रीडर ज़रूर फायदा उठाएंगे

🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤
😊सुहानी चाँदनी रातें, हमें सोने नहीं देतीं,
 तुम्हारे प्यार की बातें, हमें सोने नहीं देतीं ।
🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤

---------------हर्ष महाजन

Wednesday, June 22, 2016

फ़िल्मी गानों की तकती - :बहर: पार्ट - 9

बह्र
1222-1222-122
हज़ज़ मुसद्दस महजूफ
मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन फ़ऊलुन

"""'"""""""""""""""""""""""""""""
* हमें तुमसे मुहब्बत हो गयी है
*मैं तन्हा था मगर इतना नहीं था
*मुहब्बत करने वाले कम न होंगे
*मेरे हाथों में नो नो चूड़ियाँ हैं

Friday, June 17, 2016

फ़िल्मी गानों की तकती - :बहर: पार्ट - 8

(1)
मुतदारिक मुसम्मन सालिम

*********************
212-212-212-212
*********************
कभी-कभी ये बहर 8 अरकान के साथ भी ली जाती है |

उदाहरण :-
**छोड़ दे सारी दुनिया किसी के लिए, ये मुनासिब नहीं आदमी के लिए |
    212-212-212-212-212-212-212-212
===================================
212-212-212-212
**हर तरफ हर जगह बे-शुमार आदमी
____________________________
**एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा
____________________________
**बे-खुदी में सनम उठ गये जो कदम
____________________________
**कर चले जो फ़िदा जान ओ तन साथियों
____________________________
**खुश रहे तू सदा ये दुआ है मेरी
____________________________
**आपकी याद आती रही रात भर
____________________________
**गीत गाता हूँ मैं गुनगुनाता हूँ मैं
___________________________


=============OO=================


(2)
हज़ज़ मुसम्मन अखरब मक्फूफ़ महजूफ़
**************************
221-1221-1221-122
**************************


**ऐ हुस्न ज़रा जाग तुझे इश्क जगाये
_________________________

**ये शाम की तन्हाइयां ऐसे में तेरा गम

________________________
**दुश्मन न करे दोस्त ने ये काम किया है

__________________



=============OO=================



Tuesday, March 1, 2016

फ़िल्मी गानों की तकती - :बहर: पार्ट - 7



३१) वो कल भी आस पास थी वो आज भी करीब है |

      1212-1212-1212 -1212

������������������

३२)  रात कली इक ख्वाब में आई और गले का हार हुई |

       21122-21122-21122-2112 or
       2222-2222-2222-222

    (एक था गुल और एक थी बुलबुल )

������������������

३३)  खुदा करे कि मुहब्बत में वो मुकाम आये |

       1212/1122/1212/22

������������������

३४)  छोड़ दे सारी दुनिया किसी के लिए, ये मुनासिब नहीं आदमी के लिए |

       212 - 212 - 212 - 212 - 212 - 212 - 212 - 212

������������������

३५) तेरी आँखों के सिवा दुनिया में रखा क्या है |

       2122 - 1122 - 1122 - 22

������������������

३६) हमने देखी है इन आँखों की महकती खुशबू |

      2122-1122-1122-22

������������������

३७) दिल ढूंढता है फिर वही फुर्सत के रात दिन |

     221-2121-1221-212

������������������
    122-122-122-122

38) उठेगी तुम्हारी नज़र धीरे-धीरे

39) अकेले अकेले कहाँ जा रहे हो ।
40) न तुम बे-वफ़ा हो न हम बे-वफ़ा है ।
41) हमीं से मुहब्बत हमीं से लड़ाई
       अरे मार डाला दुहाई दुहाई |
42)
मुझे दुनिया वालों, शराबी न समझो
       मैं पीता नहीं हूँ, पिलायी गयी है
 
������������������

Monday, February 29, 2016

फ़िल्मी गानों की तकती - :बहर: पार्ट - 6

त्रुटियों के लिए सदा क्षमा प्रार्थी रहूँगा --- मैंने आप सभी से बहुत कुछ सीखा है और मुझे आगे भी उम्मीद है आपसे बहुत कुछ सीखने को मिलता रहेगा | %%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%%

इसी तरह और कुछ गानों की तकती जिस क्रम में आती चलेगी करते चलेंगे......उम्मीद है ग़ज़ल कहने में सहायता मिल सकेगी


1) मैं तुम्ही से पूछती हूँ, मुझे तुमसे प्यार क्यूँ है |

    1121-2122//1121-2122  [1121 ko 221 भी कह सकते हैं ]

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

२) मैं ख्याल हूँ किसी और का मुझे सोचता कोई और है |

    11212-11212-11212-11212

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

     221-1221-1221-122


3) ये शाम की तन्हाईयाँ ऐसे में तेरा गम |
 



●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

      221-2122 // 221-2122


{बहरे मुजारी मुसम्मन अखरब (शिकस्ता )}
*इन्साफ की डगर पे बच्चो दिखाओ चल के |
*
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दूसितां हमारा |
*गाड़ी बुला रही है सीटी बजा रही है |
*
ये ज़िंदगी के मेले दुनियां में कम न होंगे |
*
ओ दूर के मुसाफिर हमको भी साथ ले ले |
*गुज़रा हुआ ज़माना आता नहीं दुबारा |
*तकदीर का फ़साना जाकर किसे सुनाएँ |



●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

5)  ग़मों का दौर भी आये तो मुस्कुरा के जियो |

     1212-1122-1212-112

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

6)  दाग-ए-दिल, दाग-ए-जिगर, दाग-ए-तमन्ना लेकर

     दाग-ए-दिल=दागे दिल =2-1/2-2[गे  is flexible meaning 1 or 2]
     दाग-ए-जिगर= दागे जिगर =2-1/2-1-2

     daa2gh-e1-dil2,daa2gh-e1-ji1gar2,daa2gh-e1-ta1man2naa2 le2kar2
    
      2122-1122-1122-22

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●
    
७) जीत ही लेंगे बाजी हम तुम , खेल अधूरा छूटे  न |

    21122-2222-21122-222

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●


९)  आ चल के तुझे मैं ले के चलूँ , इक ऐसे गगन के तले |

      221-2121-1221-212

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

१०)  दिल आज शायर है, गम आज नगमा है,
       शब् ये ग़ज़ल है सनम ,
       ओरों के शरों को, ओ सुनने वाले,
       हो इस तरफ भी करम |

       221-221-221-221
       221-221-2      
       221-221-221-22
       221-221-2

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●


१२)  मिटटी से खेलते हो बार-बार किस लिए,
       टूटे हुए खिलौनों से यूँ प्यार किस लिए |

        221-2121-2121-212
        221-2121-1221-212

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

१३)  जिंदा हूँ इस तरह के गम-ए-ज़िंदगी नहीं |

        221-2121-1221-212

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

१४)  चाँद आँहें भरेगा, फूल दिल थाम लेंगे,
      
       212-2122 // 212-2122

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

१५)  इस भरी दुनिया में कोई भी हमारा न हुआ |

      2122-1122-1122-112

     
2122-2122-2122-212 भी हो सकता है (चुपके-चुपके रात दिन आंसू बहाना याद है )
       

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

१६) हुस्न की बात चली तो सब तेरा नाम लेंगे |

       212-2122 // 212-2122  

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

१७) अब क्या मिसाल दूं  मैं तुम्हारे शबाब की |

       221-2121-1221-212

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

१८)  एक था गुल और एक थी बुलबुल , दोनों चमन में रहते थे |

        21122-21122-21122-222 or
        2222-2222-2222-222


●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

१९)  दूर रह कर न करो बात करीब आ जाओ |

        2122-1122-1122-22


●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

२०)  पुकारता चला हूँ मैं गली बाली बहार की |

       1212-1212-1212-1212

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

२१) मैं ज़िंदगी का साथ निभाता चला गया |

      221 2121 1221 212

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

२२)  गम उठाने के लिए मैं तो जिए जाऊँगा |

       2122-1122-1122-22

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

२३)  हवाओं पे लिख दो हवाओं के नाम
      
       122-122-122-12

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

२४) आज रुसवा तेरी गलियों में मुहब्बत  होगी |

       2122 -1122- 1122 -22 

(aa2j1 rus2waa2 / te1ri1 gal2yoN2 /  meN1 mu1hab2 bat2/ ho2gii2)

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

२५)  वो सुबह कभी तो आएगी |

        22-112[22]-22-22

(vo2 sub2h1 ka1bhii2 to2 aa2ye2gii2)

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

२६) ऐ मेरे प्यारे वतन ऐ मेरे बिछुड़े चमन

     2122-2122-2122-212


●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●
२७)  तुम्हारी दुनिया से जा रहे हैं उठो हमारा सलाम ले लो |
       
        121-22-121-22-121-22-121-22
●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●
२८) छुपा लो यूँ दिल में प्यार मेरा कि जैसे मंदिर में लो  दिए की |       
        121-22-121-22-121-22-121-22

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●
२९) रहा गर्दिशों में हर दम, मेरे इश्क का सितारा |
       1121/2122//1121/2122

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

३०) बात निकली तो बहुत दूर तलक जायेगी |

      2122-1122-1122-22

●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●

Sunday, January 24, 2016

फ़िल्मी गानों की तकती - :बहर: पार्ट - 5

फ़िल्मी गानों की तकती

�����������������������
(61) 
*न जाओ सैयां छुडा के बैयाँ कसम तुम्हारी मैं रो पडूँगी |

           Na1 ja2 oo1 saii2 ya1 chu1 daa2 ke1 baiy2 ya2 ka1 sam2 tu1 mha2 ri1 mai1 ro2 pa1 dun2 gi2
           *न आदमी का कोई भरोसा न दोस्ती का कोई ठिकाना |

         
           
*तुम्हारी दुनिया से जा रहे हैं उठो हमारा सलाम ले लो |

           
*तुम्हारी आँखों में हमने देखा वफ़ा की शबनम झलक रही है |
           121 / 22 / 121 / 22 / 121 / 22 / 121 /22
         ( mutaqarib musamman muẓaf maqbuz aslam )�����������������������
(62) 
*रहा गर्दिशों में हरदम मेरे इश्क का सितारा |
        
Ra1 haa1 gar2 di1 sho2 me1 har2 dum2// me1 re1 ish2 q1 ka2 si1 taa2 raa2
          
*ये न थी हमारी किस्मत के विसाल-ए-यार होता |
           
Ye1 na1 thi2 ha1 maa2 ri1 kis2 mat2 ke1 vi1 saa2 le1 yaa2 r1 ho2 ta2

(63)  *मैं तुम्हीं से पूछती हूँ मुझे तुमसे प्यार क्यूँ है |

          1121-2122//1121-2122 [1121 ko 221 bhii use kar sakte hain]

�����������������������